Durga Saptashati

Durga Saptashati (Sanskrit)

₹699
Only left in stock. Hurry up!
badge
badge
badge

Product details

श्री दुर्गा सप्तशती (देवी माहात्म्यम्) को सीखने के इच्छुक उपासकों के लिये इस पुस्तक की रचना अत्यन्त सरल भाषा में की ग‌ई है। विस्तृत एकादश न्यास, 700 श्लोकों (बीजाक्षर सहित) के लि‌ए स्वाहा “संकेत” सहित चंडी हवन में प्रयुक्त होने वाले अध्याय विशिष्ट घोषों को भी इस पुस्तक में संकलित किया गया है। यह पुस्तक सभी उपासकों का पारायण-पूजा- हवन-तर्पण-मार्जन-प्रोक्षण इत्यादि में मार्गदर्शन करने के लिए उपयुक्त है। यह पुस्तक श्री भास्करराय मखिन की टीका गुप्तवती पर आधारित है । प्रचलित त्रयंगम विधि के साथ अद्वितीय नवांगम विधि को भी पुस्तक में जोड़ा गया है। पूजा खंड में षोडशोपचार पूजा (श्री सूक्त विधान समेत), चंडी नवावरण पूजा, चंडी त्रिशती, हवन-तर्पण-मार्जन-प्रोक्षणादि को विस्तृत दिशा-निर्देशों के साथ दिया गया है। नव उपासकों का विचारकर न्यास (करन्यास, हृदयन्यास), मनसा पंचोपचार व आवाहन-नैवेद्यादि मुद्रा‌ओं को समुचित दिशा- निर्देशों के साथ चित्रित किया गया है। वरिष्ठ साधकों के लिए अष्टावदन सेवा, आशीर्वाद मंत्र, शांति मंत्र आदि को परिशिष्ट में दिया गया है। श्री जगदंबा का आशीर्वाद स्वरूप यह पुस्तक निश्चय ही नव उपासकों सहित वरिष्ठ साधकों के आध्यात्मिक प्रगति में सहायक सिद्ध होगी।

|| जय चंडी ||

700 श्लोक व श्री चंडी नवाक्षरी मंत्र की व्याख्या श्री भास्करराय मखिन कृत गुप्तवती के अनुसार

GRD Iyers GuruCool पद्धतिनुसार विस्तृत पूजन, चंडी हवन एवम चंडी नवावरण हवन स्वाहाकार, पारायण-तर्पण-मार्जन-प्रोक्षण विधि व विविध न्यास मंत्रों सहित ६ भाषाओं (संस्कृत/हिंदी, तमिल, तेलुगु, मलयालम, कन्नड़, अंग्रेजी) में प्रकाशित एकमेव पुस्तक।

उपासकों के लिए सरल एवम उपयोगी मार्गदर्शक पुस्तक।

Similar products

Sign up & save

Be updated on new books and offers. Sign up now!